Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

काली माता की आरती | अंबे तू है जगदंबे काली | kali mata ki aarti | jai ambe gori

 काली जी की आरती (Kali mata ki aarti)

Jai ambe gori सभी भक्तो को सहृदय से नमस्कार, सनातन धर्म में पूजन भजन और Aarti का बहुत महत्व है , आज आप सभी सनातन धर्म बंधुयो के लिए ( kali mata ki aarti  ) jai ambe gori लेके आय है कृपया ध्यान से माता की Aarti  करे जय माता की 

Kali mata ki aarti


अंबे तू है जगदंबे काली, जय दुर्गे खप्पर वाली, 

तेरे ही गुण गाए भारती, ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।। अंबे तू है जगदंबे......

तेरे जगत में भक्तजनों पर भीड़ पड़ी है भारी माँ, 

दानव दल पर टूट पड़ो माँ, करके सिंह सवारी । 

सौ-सौ सिंहो से तू बलशाली, है दस भुजाओं वाली, 

दुष्टों को तू ही तो संहारती, हो मैया हम सब उतारे तेरी आरती ।। अंबे तू है जगदंबे......

नहीं मांगते धन और दौलत, न चांदी ना सोना माँ, 

हम तो मांगे मां तेरे मन में, एक छोटा सा कोना माँ, 

सबकी बिगड़ी बनाने वाली, लाज बचाने वाली, दुखियों के दुखड़े निवारती हो मैया हम सब उतारे तेरी आरती ।। अंबे तू है जगदंबे......

माँ बेटे का है इस जग में बड़ा ही निर्मल नाता माँ ,

पूत कपूत सुने है पर न माता सुनी कुमाता ,

सबपे करुणा बरसाने वाली , सबको हरसाने वाली नैया भवर से उबारती हो मैया हम  सब उतारे तेरी आरती !! अंबे तू है जगदंबे......

आदि शक्ति भगवती भवानी हो जग की हितकारी , 

जिसने  याद किया आई माँ करके सिंह सवारी,

 सबपे कृपा बरसाने वाली दुष्टों को पल में है मारती  हो मैया हम  सब उतारे तेरी आरती  !! अंबे तू है जगदंबे......

भक्त तुम्हारे निशदिन मैया तेरे ही गुण गाए, 

मन वाँछित वरदे दो इनको, तुमसे आश लगाए, 

मैया तुम ही वर देने वाली, जाए न कोई खाली, 

दर से तुम्हारे माता मांगते, हम  सब उतारे तेरी आरती ।! अंबे तू है जगदंबे...... 

चरण - शरण में आन खड़े माँ ले पूजा की थाली , 

वरद हस्त  सर पर रख दो माँ संकट हरने वाली 

मैया, भरदो भक्ति रस प्याली, अष्ट भुजाओ वाली, भक्तो के कारज तू ही सारती, हो मैया हम  सब उतारे तेरी आरती !! अंबे तू है जगदंबे......

छोटा सा परिवार हमारा इसे संभाले रखना माँ ,

इस बगिया में सदा खुसी के फूल खिलाय रखना माँ , 

मैया, करुणा बरसाने वाली ,अष्ट भुजाओ वाली, दुखियो के दुःख को निवारती हो मैया हम  सब उतारे तेरी आरती !! अंबे तू है जगदंबे......

kali mata ki aarti sampurn

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां